गर्भपात कराने का था टारगेट… 3000 बच्‍चों को कोख में मारने वालों का कभी नहीं चलता पता… अगर

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

बेंगलुरु में हाल ही में सामने आए भ्रूणहत्या घोटाले की जांच में चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं. आरोपियों ने पुलिस को बताया कि उन्होंने अब तक 3000 कन्या भ्रूणों का गर्भपात किया है. बेंगलुरु के पुलिस कमिश्नर बी. दयानंद ने मंगलवार को पत्रकारों को बताया कि जांच से पता चला है कि आरोपियों ने अब तक 3,000 गर्भपात कराए हैं और पिछले तीन महीनों में ही 242 कन्या भ्रूणों की हत्या कर दी गई.

आरोपियों ने पैसा कमाने के लिए प्रति वर्ष 1,000 गर्भपात का टारगेट रखा था. वे प्रति गर्भावस्था समाप्ति के लिए 20,000 से 25,000 रुपये लेते थे. यह घोटाला तब सामने आया जब 15 अक्टूबर को बयप्पनहल्ली पुलिस ने संदिग्ध रूप से घूम रहे एक वाहन को रोकने की कोशिश की. वाहन का चालक नहीं रुका. इसके बाद पुलिस ने वाहन का पीछा कर उसे पकड़ लिया.

AAP सांसद संजय स‍िंह की जमानत याच‍िका में आया बड़ा अपडेट, कोर्ट ने ED से मांगा…

पूछताछ के दौरान आरोपियों ने गर्भपात रैकेट के बारे में खुलासा किया. पुलिस ने इस घृणित गतिविधि में शामिल होने के आरोप में अब तक दो डॉक्टरों और तीन लैब तकनीशियनों सहित नौ लोगों को गिरफ्तार किया है. पुलिस कमिश्नर दयानंद ने कहा कि गिरफ्तार किए गए लोगों में से दो को अपहरण के मामले में भी शामिल पाया गया. गृह मंत्री डॉ. जी परमेश्वर ने कहा है कि मामले की जांच जल्द ही पूरी हो जाएगी और सब कुछ सामने आ जाएगा.

जांच से यह भी पता चला कि गर्भपात मांड्या जिले में एक जैगरी प्रोडक्शन यूनिट में किया गया था, जहां आरोपियों ने एक लैब और संबंधित सुविधाएं स्थापित की थी. मंड्या के सहायक आयुक्त शिवमूर्ति ने कहा कि जिला आयुक्त के आदेश के अनुसार जैगरी प्रोडक्शन यूनिट को सीज कर दिया गया है.

Tags: Karnataka News

Source link

Leave a Comment

What does "money" mean to you?
  • Add your answer